योगा और मेडिटेशन से मेमोरी होती है ते़ज

आजकल की लाइफ स्टाइल में देर से सोना, तनाव, जंक फूड जैसी कई आदतों के चलते कम उम्र में भी याददाश्त कमजोर होने लगती है। दिमाग तेज करने के लिए मेंटल एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी है। योग न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक एक्सरसाइज भी है। इसका शरीर को स्वस्थ्य रखने में काफी महत्व होता है।

याददाश्त प्रत्येक व्यक्ति के ध्यान लगाने की क्षमता पर निर्भर करती  है। किसी भी बात को याद करने के लिए अगर जरूरत से ज्यादा समय लग रहा है तो इसका मतलब ये होता है कि व्यक्ति ध्यान लगाने में सक्षम नहीं है या उसका दिमाग हर जगह बट रहा  है। कई बार लोगों को भूलने की बीमारी हो जाती है। और उनको कुछ याद नहीं रहता है. याददाश्त को सुधारने के लिए सबसे सही जरिया योग को माना जाता है। इसको शांत रखना बेहद जरूरी होता है। महार्षि पतांजली (जो योग पिता कहलाए) के अनुसार- “योग चित्त वृत्ति निरोध” इसका मतलब है योग से मन शांत होता है और विचलित नही होता है । उन्होंने कई सारी तकनीकि जैसे योग निद्रा, प्राणायाम और आसन का अविष्कार किया।

स्मरणशक्ति बढ़ाने के लिए बाजार में बहुत सारे प्रोडक्ट्स मिलते हैं। यह अच्छे भी हो सकते हैं और बुरे भी। सच पूछें तो किसी की भी स्मरणशक्ति कमजोर नहीं होती, न ही इस पर उम्र का कोई फर्क पड़ता है। 
भूलना मनुष्य का सामान्य स्वभाव है और इसे सामान्य ही समझना चाहिए। योग का सातवां अंग 'ध्यान' कई रोगों में लाभदायक है। यदि आपकी याददाश्त कमजोर है तो इसे ध्यान के द्वारा आसानी से दो तरीके से दूर किया जा सकता है। आप किसी भी सुखासन में बैठ जाएं और आलार्म लगाकर मात्र 10 मिनट के लिए आंखें बंद कर लें और सिर्फ श्वासों के आवागमन पर ध्यान दें। ऐसा प्रतिदिन कम से कम 30 दिन तक करें।  

हाल में एक नए शोध में पाया गया है कि रोज 20 मिनट तक हठ योग का अभ्यास दिमाग को तेज करता है। खास बात ये है कि 20 मिनट का ये योग एरोबिक्स से कहीं अधिक कारगर है। योग के इस प्राचीन रूप के महत्व पर उर्बाना की इलिनोयस यूनिवर्सिटी ने अ‌ध्ययन किया जिसके आधार पर यह निष्कर्ष निकाला है। यानि सिर्फ 20 मिनट का योग आपके दिमाग की बत्ती जलाने के लिए काफी है।


याददास्त बढ़ाने वाली जड़ी-बूटी:


शंखपुष्पी याददास्त बढ़ाने के लिए- 
शंख पुष्पी दिमाग को बढ़ाने के साथ-साथ दिमाग में ब्लड सर्क्युलेशन ठीक करके हमारी रचनात्मकता को भी बढ़ाता हैं यह जड़ी-बूटी हमारी याद करने की क्षमता और सीखने की क्षमता को भी बढ़ाती है। दिमाग को तेज करने के लिए आधे चम्मच शंख पुष्पी को एक कप गरम पानी में मिला कर लें।
बाह्मी हैं लाभकारी याददास्त बढ़ाने के लिए- 
बाह्मी नामक जड़ी-बूटी को दिमाग के लिए टॉनिक भी कहा जाता है। यह दिमाग को शांति प्रदान करती है और याद्दाश्त को मजबूत करने में भी मदद करती है। आधे चम्मच बाह्मी  पाउडर और शहद को गर्म पानी में मिलाकर पीने से दिमाग तेज होता है
अखरोट का सेवन करे याददास्त बढ़ाने के लिए- 
अखरोट जिसे अंग्रेजी में वालनट कहते हैं।स्मरण शक्ति बढाने में सहायक है। इसका नियमित उपयोग हितकर है। अखरोट और किसमिस को एक साथ लेने से स्मरण शक्ति तेज होती है।
केसर याददास्त बढ़ाने के लिए- 
केसर एक ऐसी जड़ी-बूटी है, जिसका उपयोग खाने में स्‍वाद बढ़ाने के सा‍थ-साथ अनिद्रा और डिप्रेशन दूर करने के लिए किया जाता है।  इसके सेवन से दिमाग तेज होता है।

अलौकिक मेमोरी बूस्टर 



उम्र बढ़ने के साथ साथ याददाश्त भी कमजोर होती जाती है, लेकिन याददाश्त कमजोर होने की समस्या केवल बुढ़ापे में ही नहीं आती है. किसी किसी व्यक्ति या बच्चे की याद्दास्त ते़ज नही होती तो उसके लिए कुसीएच उपाय भी करने पड़ते हैं. दिमाग हमारे शरीर को वो हिस्सा है जिसके संकेत के बिना शरीर का कोई भी अंग काम नहीं कर सकता. अपने आहार में कुछ विशेष जड़ी-बूटियों को शमिल करके आप अपने दिमाग को तेज कर सकते हैं. जड़ी-बूटियों के द्वारा बनाया गया एक औषधीय योग भी इस मामले में आपकी मदद कर सकता है और यह अलौकिक मेमोरी बूस्टर  नामक हर्बल योग दिमाग की शक्ति बढ़ाने में काफी मददगार साबित हो सकता है. इस सम्बंध में किसी भी जानकारी या औषधि प्राप्ति हेतु संपर्क करें. 
Whatsapp: 9599081730


























टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सेक्स पावर बढ़ाने के लिए काबू में रखें मोटापा

1 महीने में 8 किलो वजन घटाया!

ऑपरेशन से बचना है तो अपनाएं अलौकिक उपचार